MRP से 55% अधिक की वसूली: माउंट आबू में शराब ठेकेदारों की मनमानी, यहां आबकारी विभाग के नही ठेकेदार के चलते हैं नियम कायदे

आप अगर शराब के शौकीन हैं और माउंट आबू घूमने का प्लान बना रहे हैं तो यहां आपको MRP से 55% ज्यादा रेट चुकाकर शराब खरीदनी पड़ेगी। यहां सरकार के नियम कायदों की दलील देकर भी आप अंकित मूल्य से शराब खरीद ही नही पाओगे क्योंकि यहाँ पर सिर्फ ठेकेदार द्वारा तय की गई रेट पर ही शराब बेची जाती हैं।

माउंट आबू में शराब ठेकेदारों की मनमानी, यहां आबकारी विभाग के नही ठेकेदार के चलते हैं नियम कायदे
  • गणपतसिंह मांडोली 9929420786

सिरोही। प्रदेश के एकमात्र हिलस्टेशन माउंट आबू में आबकारी विभाग और प्रदेश सरकार के नियमो के विपरीत शराब ठेकेदारों ने अपनी मनमर्जी के नियम कायदे बना रखे हैं। आप अगर शराब के शौकीन हैं और माउंट आबू घूमने का प्लान बना रहे हैं तो यहां आपको MRP से 55% ज्यादा रेट चुकाकर शराब खरीदनी पड़ेगी। यहां सरकार के नियम कायदों की दलील देकर भी आप अंकित मूल्य से शराब खरीद ही नही पाओगे क्योंकि यहाँ पर सिर्फ ठेकेदार द्वारा तय की गई रेट पर ही शराब बेची जाती हैं। माउंट आबू के स्थानीय निवासियों और यहां घूमने आने वाले पर्यटकों की बार बार शिकायत के बाद जब हमारी टीम यहां स्टिंग करने पहुंची और माउंट आबू के पेट्रोल पम्प के सामने स्थित एक दुकान पर बोगस ग्राहक बनकर शराब खरीदने गए और दुकान पर बैठे सेल्समैन से टुबर्ग बियर की एक बोतल मांगी तो उसके द्वारा मांगी गई कीमत को सुनकर ही हम हैरान रह गए। सेल्समैन ने हमारे से एक बियर के 200 रुपये की मांग की। जब हमने उससे MRP 135 रुपये की बात की तो उसने कहा कि यहां MRP से नही ठेकेदार द्वारा तय की गई रेट से ही शराब बिकती हैं। जब हमने उस सेल्समैन से कहा कि यदि आप ज्यादा रेट लेंगे तो हमें मज़बूरी में दूसरे ठेके पर जाकर शराब खरीदनी पड़ेगी, तो सेल्समैन तपाक से बोला माउंट आबू नगरपालिका क्षेत्र के सभी 10 ठेके हमारे सेठ के ही हैं, सब दुकानों पर आपको इसी रेट में शराब खरीदनी पड़ेगी। 

रात 8 बजे के बाद भी खुलेआम शराब की बिक्री

माउंट आबू परिक्षेत्र में आपको राजस्थान आबकारी विभाग के नियमों के वितरित 24 घण्टे आपको आसानी से शराब मिल जाएगी। हमारी टीम जब रात 9 बजे जंगल रिसोर्ट के पास स्थित शराब की दुकान पर पहुंची तो दुकान का मुख्य शटर बन्द मिला, पर दुकान के पिछले दरवाजे पर ग्राहकों की लाइन लगी हुई दिखाई दी। हमारी टीम ने भी पिछले दरवाजे पर जाकर बियर की बोतल मांगी तो यहां पर भी हमसे एमआरपी से 55 गुणा अधिक कीमत मांगी गई। आपको बता दें माउंट आबू में गुजराती पर्यटक बड़ी संख्या में आते हैं। और गुजरात राज्य में शराब बंदी के चलते अधिकतर पर्यटक माउंट आबू में घूमने के साथ साथ शराब का लुफ्त उठाने भी आते हैं। ऐसे में इन पर्यटकों के साथ यहां के शराब ठेकेदार खुलेआम MRP से अधिक वसूली कर एक प्रकार से लूट कर रहे हैं। पर जिम्मेदार हैं कि बस मूकदर्शक बने बैठे हैं।

◆ सर्किल आबकारी निरीक्षक से बात की तो बोले "बात करवाईये, MRP से उपलब्ध करवा देंगे"

माउंट आबू में शराब ठेकेदार द्वारा MRP से अधिक दाम वसूलने की शिकायत जब हमने अपना रेफरेंस देते हुए आबूरोड़ सर्किल के आबकारी निरीक्षक संजय अखावत से की तो निरीक्षक ने बड़ी बेशर्मी से कहा कि आप मेरी बात सेल्समैन से करवाईये आपको MRP से शराब देने का बोल देता हूँ। जब हमने फोन सेल्समैन से देते हुए कहा कि आबकारी सीआई साहब से बात कीजिए और जब सेल्समैन ने उनसे बात की तो आबकारी सीआई ने सेल्समैन से कहा कि भाई ये लोग पत्रकार हैं इनको MRP पर शराब दो, तो सेल्समैन ने कहा कि सर मैं इनको जानता नही था, आपने कहा हैं तो MRP से दे देता हूँ। इस बातचीत का पूरा ऑडियो हमारे पास सुरक्षित हैं। इस बातचीत को सुनकर ही ये कन्फर्म हो जाता हैं कि आबकारी विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत के कारण ही शराब ठेकेदार ग्राहकों के साथ ये खुली लूट कर रहे हैं।

Must Read: हनुमानगढ़ जिले में वायुसेना के हेलीकॉप्टर MI-35 की खेत में आपात लैंडिंग, लगी देखने वालों की भीड़

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :