संभावनाओं पर चर्चा: पर्यटन और Hospitality Management के अध्ययन में संभावनाओं पर की चर्चा, स्विस एजुकेशन ग्रुप के कार्यकारी निदेशक मिले पर्यटन मंत्री से 

हैरीटेज पर्यटन के लिए मशहूर राजस्थान में संभावनाओं तथा यहां के युवाओं के लिए लग्जरी आतिथ्य प्रबंधन के कोर्सेज और स्विटजरलैण्ड के साथ संभावनाओं के विषय पर स्विस एजुकेशन समूह के कार्यकारी निदेशक क्लाउडियो रेकेनेलो ने पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्रसिंह भरतपुर से मुलाकात की।

पर्यटन और Hospitality Management  के अध्ययन में संभावनाओं पर की चर्चा, स्विस एजुकेशन ग्रुप के कार्यकारी निदेशक मिले पर्यटन मंत्री से 
स्विस एजुकेशन समूह के कार्यकारी निदेशक क्लाउडियो रेकेनेलो ने पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्रसिंह भरतपुर से मुलाकात की

जयपुर | हैरीटेज पर्यटन के लिए मशहूर राजस्थान  के युवाओं के लिए लग्जरी आतिथ्य प्रबंधन के कोर्सेज और स्विटजरलैण्ड के साथ संभावनाओं के विषय पर स्विस एजुकेशन समूह के कार्यकारी निदेशक क्लाउडियो रेकेनेलो ने पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्रसिंह भरतपुर से मुलाकात की।

राजस्थान में उच्च शिक्षा और पर्यटन क्षेत्र में निवेश और सहयोग के अवसरों के विषय पर बात करते हुए क्लाउडियो ने मंत्री सिंह को स्विटजरलैण्ड आने का न्यौता दिया और इन अवसरों पर सहयोग की बात कही। मंत्री विश्वेन्द्रसिंह ने राजस्थान की आवश्यकताओं और सरकार के उपायों के बारे में बताया।

मंत्री सिंह ने कहा कि वे चाहते हैं कि राजस्थान के युवाओं को पर्यटन तथा आतिथ्य प्रबंधन क्षेत्र में प्रभावी अवसर मिले। समूह में शामिल स्विस एजुकेशन समूह की भारतीय उप महाद्वीप की क्षेत्रीय निदेशक संदीपा वर्मा ने भारत में स्विस एजुकेशन समूह की ओर से किए जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि स्विस एजुकेशन ग्रुप स्विट्जरलैंड का सबसे बड़ा निजी शिक्षा समूह है। वर्तमान में वे दुनिया के शीर्ष आतिथ्य स्कूलों में से 4 संचालित करते हैं और पाठ्यक्रमों में 6,000 से अधिक छात्र नामांकित हैं। उन्होंने बताया कि आतिथ्य, व्यवसाय और पाक कला शिक्षा में लगभग 40 वर्षों के अनुभव के साथ, हम स्विस आतिथ्य की महान परंपरा में आगे बढ़ रहे हैं।

संदीपा ने बताया कि राजस्थान के विद्यार्थियों को आतिथ्य उद्योग और उससे आगे बढ़ने के लिए आवश्यक नेतृत्व और उद्यमशीलता कौशल से लैस करने के लिए वे राजस्थान सरकार से सहयोग चाहते हैं।

स्विस एजुकेशन समूह एसएचएमएस में छात्रसंघ अध्यक्ष रह चुके सूर्यप्रतापसिंह भाटी ने बताया कि स्नातक और मास्टर डिग्री सहित आतिथ्य शिक्षा पाठ्यक्रमों की एक विस्तृत शृंखला है, जिसमें विद्यार्थियों के लिए प्रभावी अवसर हैं। छात्र एक ऐसा कार्यक्रम चुन सकते हैं जो उनकी व्यक्तिगत सीखने की जरूरतों और पेशेवर हितों के लिए विशिष्ट हो। इस दौरान वरिष्ठ पत्रकार अविनाश कल्ला भी साथ रहे।

समूह की ओर से पर्यटन मंत्री को स्विटजरलैण्ड आने का न्यौता भी दिया और विस्तार से आगे बात काम करने की बात कही। मंत्री ने इस मुलाकात के लिए आभार जताया।

Must Read: नस्लीय भेदभाव के मुकदमे के खिलाफ टेस्ला की याचिका अमेरिका में खारिज

पढें इकोनॉमी खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :