राजस्थान पुलिस की कार्रवाई: राजस्थान पुलिस की एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स की कार्रवाई, टॉप 25 वांटेड अपराधियों में शामिल 50 हजार का इनामी तस्कर उदयपुर से गिरफ्तार

एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स की टीम ने प्रदेश के वांटेड 25 बदमाशों में शामिल 50 हजार का इनामी बदमाश को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार तस्कर कोटा शहर में मकबरा थाने के एनडीपीएस एक्ट के मामले में 4 साल से तथा गुमानपुरा थाने में 3 साल से वांछित है। इस पर पुलिस प्रशासन की ओर से 50 हजार रुपए का इनामी तक जारी कर रखा है।

राजस्थान पुलिस की एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स की कार्रवाई, टॉप 25 वांटेड अपराधियों में शामिल 50 हजार का इनामी तस्कर उदयपुर से गिरफ्तार

जयपुर, 21 जून। राजस्थान में सरकार बदलते ही पुलिस प्रशासन ने भी अपनी कार्यशैली बदल ही। भजनलाल सरकार ने संगठित अपराध को नियंत्रण करने की दिशा में एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स का गठन होने के बाद अब   एक के बाद एक बदमाश सलाखों के पीछे पहुंच रहे है।

एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स की टीम ने प्रदेश के वांटेड 25 बदमाशों में शामिल 50 हजार का इनामी बदमाश को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार तस्कर कोटा शहर में मकबरा थाने के एनडीपीएस एक्ट के मामले में 4 साल से तथा गुमानपुरा थाने में 3 साल से वांछित है।

इस पर पुलिस प्रशासन की ओर से 50 हजार रुपए का इनामी तक जारी कर रखा है। इनामी तस्कर मुनव्वर हुसैन पुत्र लियाकत हुसैन निवासी वक्फ नगर थाना दादाबाड़ी कोटा को फोर्स टीम ने उदयपुर जिले में सूरजपोल थाना इलाके से गिरफ्तार किया है।

आरोपी मुनव्वर हुसैन तस्करी में राजस्थान के टॉप 25 एवं रेंज स्तर पर टॉप 10 वांटेड की श्रेणी में शामिल है। एडीजी दिनेश एमएन के मुताबिक इनामी तस्कर मुनव्वर हुसैन के खिलाफ कोटा शहर के मकबरा व गुमानपुरा थाने में अवैध मादक पदार्थ की तस्करी के मामले में एनडीपीएस एक्ट का मुकदमा दर्ज हुआ था।

इसमें घटना के बाद से ही आरोपी फरार चल रहा था। इससे पहले भी आरोपी मुनव्वर एनडीपीएस एक्ट के मामले में 10 साल की जेल काट चुका है। इसे गिरफ्तार करने के लिए गत वर्ष 3 अगस्त को कोटा रेंज आईजी ने 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया।
      
एडीजी दिनेश एमएन ने बताया कि राजस्थान में सक्रिय गैंगस्टर, हार्डकोर बदमाश, हिस्ट्रीशीटर, तस्करों की धरपकड़ के लिए पुलिस द्वारा एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स की टीमों का गठन किया गया है। पुलिस टीम द्वारा प्रदेश के अलग-अलग शहरों में छापेमारी की।

इस दौरान डीआईजी क्राइम योगेश यादव और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश मलिक के नेतृत्व में गठित टीम के सदस्य कांस्टेबल मोहनलाल को फरार तस्कर मुनव्वर हुसैन के लिए सूचना मिली तो टीम ने आरोपी को गिरफ्तार किया। 
पुलिस टीम में एडिशनल एसपी राजेश मलिक के नेतृत्व में हैड कांस्टेबल महेंद्र कुमार, कृष्ण गोपाल, करणी सिंह एवं कांस्टेबल सोहन देव व मोहनलाल की एक टीम गठित की गई थी।

इस टीम ने मुखबीर से मिली सूचना को तस्दीक की गई। गठित टीम ने वेश बदलकर अपनी पहचान छुपाते हुए शुक्रवार को सूरजपोल थाना क्षेत्र से आरोपी तस्कर मुनव्वर हुसैन को गिरफ्तार कर लिया। एडीजी एमएन के मुताबिक इस कार्रवाई में  टीम के हैड कांस्टेबल महेंद्र कुमार व कांस्टेबल मोहनलाल व सोहन देव की विशेष भूमिका एवं हैड कांस्टेबल कृष्ण गोपाल व करणी सिंह की तकनीकी भूमिका रही।

Must Read: दुष्कर्म के एक मामले में 40 साल की सुनवाई के बाद आरोपी को जमानत मिली।

पढें क्राइम खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :