Rajasthan: ‘अग्निपथ योजना’ के विरोध में हनुमान बेनीवाल की हुंकार, जोधपुर में महारैली

केन्द्र सरकार की सेना में ‘अग्निपथ योजना’ को लेकर हो रहे विरोध के बीच राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने भी इसके खिलाफ हुंकार भरी है। बेनीवाल ने इस योजना के खिलाफ आज सोमवार को जोधपुर में एक महारैली को संबोधित किया और केन्द्र सरकार की इस योजना के खिलाफ विरोध जताया।

‘अग्निपथ योजना’ के विरोध में हनुमान बेनीवाल की हुंकार, जोधपुर में महारैली
Hanuman Beniwal

जोधपुर | केन्द्र सरकार की सेना में ‘अग्निपथ योजना’ को लेकर हो रहे विरोध के बीच राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने भी इसके खिलाफ हुंकार भरी है। बेनीवाल ने इस योजना के खिलाफ आज सोमवार को जोधपुर में एक महारैली को संबोधित किया और केन्द्र सरकार की इस योजना के खिलाफ विरोध जताया। उन्होंने कहा कि, मोदी सरकार की मनमानी नहीं चलने वाली है। मोदी सरकार के कृषि कानूनों के राजस्थान में सबसे पहले आरएलपी ने ही विरोध जताया था और अब अग्निपथ योजना के खिलाफ भी हम सब साथ है। हम मोदी सरकार की इस योजना का विरोध करते हैं।

इससे पहले आरएलपी संयोजक हनहुमान बेनीवाल रविवार देर रात को डीडवाना पहुंचे और किसान विश्राम गृह में सेना भर्ती की तैयारियों में जुटे युवाओं से मिले। सांसद ने ‘अग्निपथ योजना’ के विरोध में युवाओं को एकजुट होने की अपील की और जोधपुर में होने वाली युवा हुंकार महारैली में पहुंचने का आह्वान किया।

ये भी पढ़ें:- भीलवाड़ा: लग्जरी कार से आ रही थी 166 किलो अफीम, एस्कॉर्ट कर रही थी बिना नंबर की कार

युवाओं के साथ भद्दा मजाक
इस दौरान सांसद बेनीवाल ने इस योजना का विरोध करते हुए कहा कि, सेना में संविदा भर्ती बेतुका निर्णय है, जिससे सेना के सम्मान को ठेस पहुंची है। बेनीवाल ने कहा कि, केंद्र सरकार ने युवाओं के साथ भद्दा मजाक किया है। इस प्रकार की संविदा योजना सेना के लिए किसी भी दृष्टि से ठीक नहीं है। 

ये भी पढ़ें:- राजस्थान: मोबाइल बैटरी में धमाके के साथ ब्लास्ट, ऑपरेशन कर काटनी पड़ी 5वीं कक्षा के बच्चे की हथेली

नहीं करेंगे बर्दास्त, घेरेंगे संसद
सांसद बेनीवाल यहीं चुप नहीं रहे उन्होंने आगे कहा कि केन्द्र सरकार ने पहले किसानों को काले कानून के जरिए परेशान किया और अब युवाओं को ‘अग्निपथ योजना’ के माध्यम से तंग किया जा रहा है। हम इसे बर्दास्त नहीं करेंगे। हम केंद्र को झुकाकर रहेंगे और केंद्र को टीओडी जैसा निर्णय बदलना पड़ेगा। अगर जरूरत होगी तो हम संसद को भी घेरेंगे, लेकिन इस मान्य नहीं होने देंगे।

Must Read: सिरोही में स्वच्छ भारत मिशन के तहत लाभार्थियों की सूची सार्वजनिक करते हुए लिखनी थी दीवारों पर, लिख दिए स्वच्छता के नारे, खर्च होना था 13 लाख कर दिया 56 लाख रुपए

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :