जल जीवन, सरकार एक्शन में: जल जीवन मिशन में कार्य की प्रगति में पिछड़े जिलों के अधिकारियों को नोटिस, जयपुर ग्रामीण और सांचौर सहित प्रदेश के 5 अधीक्षण अभियंता पर गिरी गाज

PHED सचिव शर्मा ने JJM की परफॉर्मन्स इंडिकेटर्स के आधार पर तैयार रिपोर्ट कार्ड में पिछड़े सांचौर के अधीक्षण अभियंता पृथ्वी सिंह गुर्जर, डूंगरपुर के अनिल कछावा, जयपुर ग्रामीण के अधीक्षण अभियंता आनंद प्रकाश, नीमकाथाना अधीक्षण अभियंता दलीप तारंग और अधीक्षण अभियंता बांसवाड़ा अशोक चावला को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

जल जीवन मिशन में कार्य की प्रगति में पिछड़े जिलों के अधिकारियों को नोटिस, जयपुर ग्रामीण और सांचौर सहित प्रदेश के 5 अधीक्षण अभियंता पर गिरी गाज

जयपुर। प्रदेश में जल जीवन मिशन और समर कंटींजेंसी प्लान के कार्योें में जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधिकारियों की ओर से बरती गई लापरवाही पर विभाग के सचिव डॉ. समित शर्मा ने नोटिस जारी किए है।


पीएचईडी के सचिव शर्मा ने जल जीवन मिशन की परफॉर्मन्स इंडिकेटर्स  के आधार पर तैयार की गई डिस्ट्रिक्ट वाइज रिपोर्ट कार्ड में पिछड़े जिले के अधीक्षण अभियंताओं को नोटिस जारी कर दिया।

इसमें सांचौर के अधीक्षण अभियंता पृथ्वी सिंह गुर्जर, डूंगरपुर के अनिल कछावा, जयपुर ग्रामीण के अधीक्षण अभियंता आनंद प्रकाश, नीमकाथाना अधीक्षण अभियंता दलीप तारंग और अधीक्षण अभियंता बांसवाड़ा अशोक चावला को कारण बताओ नोटिस जारी कर निर्देश दिए है कि फंक्शनल हाउसहोल्ड टैप कनेक्शन में प्रगति लाई जाए।


वहीं सचिव डॉ. समित शर्मा ने समर कंटीन्जेंसी के तहत स्वीकृत कार्यों में शून्य प्रगति वाले प्रदेश के 4 जिलों के अधीक्षण अभियंताओं को भी कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

इसमें सवाई माधोपुर अधीक्षण अभियंता कैलाश चंद मीना, बांसवाडा अधीक्षण अभियंता अशोक चावला, धौलपुर अधीक्षण अभियंता मुकेश गर्ग और गंगापुर सिटी अधीक्षण अभियंता रामकेश मीना को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

विभाग की ओर से बार-बार वीडियो कांफ्रेंस में निर्देश दिए जाने के बावजूद भी प्रगति नहीं आने पर डॉ शर्मा ने चेतावनी दी कि अगर इन जिलों में समर कंटीन्जेंसीज कार्यों में प्रगति नहीं लाई जाती है तो संबंधित जिलों के अतिरिक्त मुख्य अभियंता को कारण बताओ नोटिस जारी किया जाएगा। 


डॉ शर्मा ने कहा कि समर कंटीजेंसी के तहत स्वीकृत कार्यों को संबंधित अधिकारी 31 मई तक हर हालात में पूर्ण करें। इसमें किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं  की जाएगी। 

डॉ. समित शर्मा ने अतिरिक्त मुख्य अभियंता सहित अधीक्षण एवं अधिशाषी अभियंताओं  के साथ समर कंटिजेंसी प्लान और जल जीवन मिशन कार्यक्रम के तहत किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की। 


डॉ शर्मा ने कहा कि गर्मी के समय पेयजल से संबंधित किसी भी तरह की किल्लत नहीं आए, इसके लिए स्वीकृत कार्यों का धरातल पर अधिकारियों द्वारा नियमित रूप से मॉनिटरिंग की जाएगी। 


इस दौरान यह सुनिश्चित किया जाएगा कि कार्य गुणवत्ता पूर्ण होना चाहिए। डॉ शर्मा ने भरतपुर संभाग के जिलों में समर कंटीन्जेंसी के तहत स्वीकृत कार्यों में लापरवाही पर  नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देशित किया कि मिशन मोड़ पर सभी कार्यों को पूर्ण किया जाए। ‌

Must Read: राजस्थान फिर बदला मौसम, कहीं तेज तो कहीं हल्की बारिश, आज से यहां भी शुरू होगा बारिश का दौर

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :