बच्चों का सवरेगा भविष्य: ‘पीएम श्री’ योजना को मोदी कैबिनेट की हरी झंडी, स्कूलों की होगी कायापलट

स्कूलों में अब पढ़ाने का आधुनिक, परिवर्तनकारी और समग्र तरीका अपनाया जाएगा। इस योजना के साथ देश के प्रत्येक जिलों के एक माध्यमिक एवं वरिष्ठ माध्यमिक स्कूलों को भी जोड़ा जाएगा।

‘पीएम श्री’ योजना को मोदी कैबिनेट की हरी झंडी, स्कूलों की होगी कायापलट

नई दिल्ली | देश के 14,500 स्कूलों की जल्द ही कायापलट होने वाली है। शिक्षा मंत्रालय की ‘पीएम श्री’ योजना को मोदी कैबिनेट की हरी झंडी मिल गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिक्षक दिवस पर इस योजना की घोषणा की थी। जिसके बाद इस पर कैबिनेट में तुरंत फैसला ले लिया गया है।

‘पीएम श्री’ योजना के तहत देश भर में कई नए स्कूलों का निर्माण भी किया जाएगा। इस योजना के अन्तर्गत स्कूलों को मॉडल स्कूल के रूप में विकसित किया जाएगा। स्कूलों में अब पढ़ाने का आधुनिक, परिवर्तनकारी और समग्र तरीका अपनाया जाएगा। इस योजना के साथ देश के प्रत्येक जिलों के एक माध्यमिक एवं वरिष्ठ माध्यमिक स्कूलों को भी जोड़ा जाएगा। इन स्कूलों में नई तकनीक, स्मार्ट क्लासरूम, खेल और आधुनिक इंफ्रा पर पूरा ध्यान दिया जाएगा, ताकि, बच्चों के भविष्य को निखारा जा सके। 

ये भी पढ़ें:- दिवाली पर इस साल भी पटाखों पर बैन, 1 जनवरी 2023 तक नहीं कर सकेंगे आतिशबाजी

‘पीएम श्री’ योजना के तहत स्कूलों में ये सब होगा खास 

- ‘पीएम श्री’ योजना के अन्तर्गत स्कूलों में नवीनतम तकनीक, स्मार्ट शिक्षा और आधुनिक ढांचा तैयार किया जाएगा।
- स्कूलों में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के सभी घटकों की झलक देखने को मिलेगी।
- इस योजना में अपडेट स्कूल अपने आसपास के अन्य स्कूलों का भी मार्गदर्शन करेंगे।
- इन स्कूलों में प्री प्राइमरी से 12वीं तक की कक्षाएं चलेंगी।
- ये स्कूल अत्याधुनिक लैब से सुसज्जित होंगे। जिससे विद्यार्थियों को किताबी ज्ञान के साथ प्रैक्टिकल में भी हुनर दिखाने का मौका होगा।
- छोटे बच्चों के लिए खेल पर फोकस किया जाएगा ताकि, उनका शारीरिक विकास हो सके।

ये भी पढ़ें:- देश आज फिर से बढ़े नए संक्रमित, सामने आए 5 हजार से ज्यादा केस, राजस्थान में कुछ ऐसा है कोरोना ग्राफ

Must Read: जम्मू-कश्मीर में आसमानी आफत! सेना ने संभाला मोर्चा, बाढ़ में फंसे लोगों का किया रेस्क्यू

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :