Amarnath Cloudburst: अमरनाथ में बरपा कहर! राजस्थान के रिटार्यट पुलिस अधिकारी समेत दो की मौत, कई लापता

अमरनाथ यात्रा के दौरान आई इस आपदा में राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले के रिटायर्ड यातायात थाना प्रभारी सुशील खत्री और उनकी बेटी की सास सुनीता वधवा की भी मौत हो गई है। इसके अलावा राजस्थान के कई और लोग अभी लापता बताए जा रहे हैं।

अमरनाथ में बरपा कहर! राजस्थान के रिटार्यट पुलिस अधिकारी समेत दो की मौत, कई लापता
Amarnath Cloudburst

जयपुर | Amarnath Cloudburst: जम्मू-कश्मीर में अमरनाथ में हुई बादल फटने की घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। जिस वक्त अमरनाथ गुफा के पास बादल फटा वहां हजारों की संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे। बादल फटते ही पानी की सैलाब अपने साथ पत्थरों का मलबा लिए श्रद्धालुओं के तंबुओं की ओर बढ़ता गया और तंबुओं को नहस-नहस करता हुआ आगे निकल गया। जिससे तंबुओं रूके श्रद्धालु खुद को बचा नहीं पाए और आपदा का शिकार हो गए। इस आपदा में अब तक 16 लोगों की मौत हो चुकी है जिनमें राजस्थान के भी 2 श्रद्धालु शामिल हैं। 

रिटार्यट पुलिस अधिकारी समेत दो की मौत
अमरनाथ यात्रा के दौरान आई इस आपदा में राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले के रिटायर्ड यातायात थाना प्रभारी सुशील खत्री और उनकी बेटी की सास सुनीता वधवा की भी मौत हो गई है। इसके अलावा राजस्थान के कई और लोग अभी लापता बताए जा रहे हैं। 

ये भी पढ़ें:- अमरनाथ में हाहाकार! अब तक 16 की मौत, 40 से ज्यादा लापता, 40 तंबू, दो लंगर बहे, रेस्क्यू जारी

परिवार समेत अमरनाथ यात्रा पर गए थे खत्री
रिटायर्ड यातायात थाना प्रभारी सुशील खत्री अपने समधी मोहनलाल वधवा, समधन सुनीता रानी वधवा समेत परिवार के कई और लोगों के साथ अमरनाथ यात्रा पर गए थे। इस परिवार के अन्य सदस्य सुरक्षित बताए जा रहे हैं। वहीं, वधवा श्रीगंगानगर न्यू क्लॉथ मार्केट के अध्यक्ष रह चुके हैं। इस आपदा में वधवा समेत कई लोगों के बारे में अभी भी सूचना नहीं मिली है। 

केदारनाथ त्रासदी की यादें हुई ताजा
बाबा बर्फानी के धाम अमरनाथ में आई इस आपदा के बाद जून 2013 में केदारनाथ में हुई त्रासदी की यादें ताजा हो गई। उत्तराखंड में चारधाम यात्रा के दौरान केदारनाथ धाम में भी इसी तरह का विनाशकारी मंजर सामने आया था। जिसमें पानी के सैलाब के साथ आए मलबे में हजारों लोग दब गए थे जिनकी महीनों तक तलाश जारी रही थी। इस त्रासदी में भी राजस्थान के कई लोगों की जान चली गई थी। अमरनाथ में भी इसी तरह से पानी के सैलाब के साथ मलबा आया और श्रद्धालुओं के लिए लगाए गए टेंटों को अपने साथ बहा ले गया। ऐसे में मलबे में कई लोगों के दबे होने की आशंका है।

Must Read: सूचना के अधिकार के तहत सूचना नहीं देना राज्य के अधिकारियों को पड़ा भारी, सूचना आयोग ने 5—5 हजार रुपए का लगाया जुर्माना

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :