सियासी पारा गरमाया: मंत्री अशोक चांदना का चढ़ा पारा, कहा- यदि सचिन पायलट सीएम बने तो जल्दी से बन जाएं, जिस दिन मैं लड़ने पर आया तो एक ही बचेगा

जिस दिन मैं लड़ने पर आ गया तो एक ही बचेगा और यह मैं चाहता नहीं हूं। गहलोत सरकार के मंत्री चांदना के ऐसे तेवर और बयान को देखकर राजस्थान में सियासी पारा भी गरमाया हुआ है।

मंत्री अशोक चांदना का चढ़ा पारा, कहा- यदि सचिन पायलट सीएम बने तो जल्दी से बन जाएं, जिस दिन मैं लड़ने पर आया तो एक ही बचेगा

जयपुर | राजस्थान में सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की मांग लगातार जोरों पर है। इसको लेकर बार-बार गहलोत गुट और पायलट गुट के खेमे के नेताओं में तनाव भी देखा गया है। वहीं, गहलोत सरकार से नाराज लोग भी लगातार इस बाबत कई बार विरोध जता चुके हैं। ऐसे में एक बार फिर से गहलोत सरकार के मंत्रियों को सोमवार को ऐसे ही विरोध से गुजरना पड़ा है। अजमेर के पुष्कर में गुर्जर आरक्षण आंदोलन में अहम भूमिका निभाने वाले कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला की अस्थियों के विसर्जन के लिए एक सभा का आयोजन किया गया। जहां जमकर हंगामा हुआ। 

कार्यक्रम में लगे सचिन पायलट जिंदाबाद के नारे
पुष्कर के मेला ग्राउंड में एमबीसी समाज की सभा में जैसे ही मंत्री अशोक चांदना भाषण देने के लिए आए मंच पर आए तो सभा में मौजूद लोगों ने उनकी और जूते-चप्पल फेंकना शुरू कर दिया और सचिन पायलट जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। कार्यक्रम में अशोक चांदना के विरोध में जमकर नारे लगने से वहां माहौल और भी गरमा गया।

ये भी पढ़ें:- अब क्या करेंगे केजरीवाल! : गुजरात में चुनावी तैयारियों के बीच ‘आप’ को बड़ा झटका, बीटीपी ने तोड़ा गठबंधन

पायलट समर्थकों के हंगामे से सभी हैरान
गहलोत सरकार में खेलमंत्री अशोक चांदना के खिलाफ इस तरह का बर्ताव को देखकर वहां सभी अन्य नेता हैरान थे। पायलट समर्थकों ने सभा में जोरदार हंगामा खड़ा कर दिया। मंच के आगे कई स्थानीय नेताओं और पुलिस आकर लोगों को शांत कराने की कोशिश की लेकिन, पायलट समर्थक माने नहीं। ऐसे में चांदना को बीच में ही अपना भाषण रोकना पड़ा और सभा से जाना पड़ा।

ये भी पढ़ें:- समारोह छोड़ भागना पड़ा: गहलोत सरकार के मंत्रियों-नेताओं पर गुर्जर समाज का फूटा गुस्सा, अशोक चांदना की तरफ फैंके जूते-चप्पल

चांदना बोले- मैं लड़ने पर आ गया तो एक ही बचेगा
अपने साथ हुए इस तरह के व्यवहार से नाराजा अशोक चांदना का भी पारा चढ़ा हुआ है। उन्होंने कहा कि, मुझ पर जूता-चप्पल फिकवाकर सचिन पायलट यदि मुख्यमंत्री बने तो जल्दी से बन जाएं क्योंकि, आज मेरा लड़ने का मन नहीं हैं। जिस दिन मैं लड़ने पर आ गया तो एक ही बचेगा और यह मैं चाहता नहीं हूं। गहलोत सरकार के मंत्री चांदना के ऐसे तेवर और बयान को देखकर राजस्थान में सियासी पारा भी गरमाया हुआ है। अब देखना ये है कि, इस घटना पर सीएम अशोक गहलोत और पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट का क्या रिएक्शन होता है।

Must Read: गृह विभाग ने सिरोही एसपी को नगर परिषद के सभापति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर तथ्यात्मक रिपोर्ट भेजने के दिए निर्देश, मिथ्या शपथ पत्र देकर चुनाव लड़ने का मामला

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :